इश्क का इजहार करने में मिर्ज़ा ग़ालिब के 7 सबक बहुत काम आएंगे..!

(आम आवाज़ न्यूज़ नेटवर्क)

नई दिल्ली: Happy Propose Day शुरू हो चुका है। रोज डे (Rose Day) के बाद प्रोपोज़ डे (Propose Day) ने दस्तक दी है। 8 फरवरी को प्रोपोज़ डे मनाया जा रहा है, यानी इश्क के इजहार का दिन। अगर प्रोपोज़ डे (Propose Day) के दिन सब सही रहता है तभी तो चॉकलेट डे (Chocolate day) 9 फरवरी, टेडी डे (Teddy Day) 10 फरवरी, प्रॉमिस डे (Promise Day) 11 फरवरी, हग डे (Hug Day) 12 फरवरी, किस डे (Kiss Day) 13 फरवरी और 14 फरवरी को वैलेंटाइन्स डे (Valentine’s Day) मना पाएंगे। वैलेंटाइन्स डे के मौके पर शेरो शायरी (Valentine’s Day Shayari) बहुत काम आती है और शायरी के जरिये कम शब्दों में गहरी बात कही जा सकती है। कम शब्दों में गहरी बात कहनी हो तो महान शायर मिर्ज़ा ग़ालिब से बेहतरीन शायर कोई दूसरा नहीं हो सकता. प्रोपोज़ डे पर शायरी (Propose Day Shayari) का जबरदस्त इस्तेमाल किया जा सकता है। उर्दू-हिंदी-वेबसाइट रेख्ता (Rekhta) से जुड़ीं अनुराधा ने प्रोपोज़ डे के लिए ग़ालिब की इश्किया शायरी का चयन किया है।

वैलेंटाइन्स डे (Valentine’s Day) से पहले का अहम दिन प्रोपोज़ डे (Propose Day Shayari) पर मिर्ज़ा ग़ालिब के 7 सबक

इश्क पर जोर नहीं है ये वो आतिश ‘ग़ालिब’ 
कि लगाए न लगे और बुझाए न बने 

अर्ज़-ए-नियाज़-ए-इश्क़ के क़ाबिल नहीं रहा 
जिस दिल पे नाज़ था मुझे वो दिल नहीं रहा

आगे आती थी हाल-ए-दिल पे हंसी 
अब किसी बात पर नहीं आती

आता है दाग़-ए-हसरत-ए-दिल का शुमार याद 
मुझ से मिरे गुनह का हिसाब ऐ ख़ुदा न माँग

आह को चाहिए इक उम्र असर होते तक 
कौन जीता है तिरी ज़ुल्फ़ के सर होते तक
0

इश्क़ ने ‘ग़ालिब’ निकम्मा कर दिया 
वर्ना हम भी आदमी थे काम के

इश्क से तबीअत ने ज़ीस्त का मज़ा पाया 
दर्द की दवा पाई दर्द-ए-बे-दवा पाया

Share link of aam awaz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *